मनोज तिवारी के जादू मुंबई में फेरू चलल

सिनेमा भोजपुरी के मेगा स्टार मनोज तिवारी के जादू मुंबई में एक बेर फेरू चलल बा, उनुकर फिलिम ‘अपने बेगाने’ मुंबई में सफलता के नया रेकार्ड बनवले बा. हर जगहा भारी भीड़ जुटत बा टिकट खिड़की पर आ दर्शकन के जबरदस्त रिस्पांस मिलत बा एह फिलिम कें.

जबरदस्त एक्शन से भरल आ पारिवारिक पृष्ठभूमि वाला कहानी पर बनल एह मनोरंजक फिल्म में मनोज तिवारी के एगो नया अवतार देखे मिलत बा. उनुका साथ एह फिलिम में बाड़े विक्रांत, मोनालिसा, कल्पना शाह, रीना रानी, सीमा सिंह, अयाज खान, गोपाल राय, देव मल्होत्रा, अली खान, हीरा यादव, रामेश्वर शर्मा, रीना सिंह आ केजल जइसन मजल कलाकार. बहुते भव्य आ बड़हन सेट्स पर फिल्मावल एह फिल्म के तकनीकिओ रूप बहुते मजगर बा. सुने में नीक लागे वाला गाना बाड़ी सँ जवना के विनय बिहारी, प्रमोद पाण्डे भा सच्चिदानंद कवच लिखले बाड़े. संगीत हवे राजेश गुप्ता-गुणवंत सेन के, एह गीतन के आवाज मिलल बा मनोज तिवारी, उदित नारायण, इंदू सोनाली, दीपा घोष, सुप्रिया आ पामेला जैन के.

फिल्म के सफलता पर सगरी सिनेमा भोजपुरी वर्ल्ड मनोज तिवारी के बधाई दिहले बा.


(शशिकांत सिंह के रपट से)

मनोज तिवारी के ‘अपने बेगाने’ अब मुंबई में

सिनेमा भोजपुरी के मेगा स्टार मनोज तिवारी के फिल्म ‘अपने बेगाने’ मुंबई में 24 फरवरी के शानदार तरीका से रिलीज कइल जाई. बिहार में ई फिल्म पहिलही सफलता के रिकार्ड बना चुकल बिया. एह में मनोज तिवारी के जबरदस्त एक्शन बा. पारिवारिक पृष्ठभूमि वाला कहानी पर बनल एह मनोरंजक फिल्म में दर्शकन के मनोज तिवारी के एगो नया अवतार देखे के मिली.

‘अपने बेगाने’ में मुख्य किरदार मनोज तिवारी, विक्रांत, मोनालिसा, अवधेश मिश्रा, कल्पना शाह, रीना रानी, सीमा सिंह, अयाज खान, गोपाल राय, देव मल्होत्रा, अली खान, हीरा यादव, रामेश्वर शर्मा, रीना सिंह आ सेजल जइसन मँजल कलाकार बाड़े. बहुते भव्य तरीका से बड़हन सेट्स पर फिल्मावल एह फिल्म के तकनीकीओ रूप से बहुत मजबूत बतावल जात बा. गानो बहुते निमन बा. गीतकार हउवे विनय बिहारी, प्रमोद पाण्डे आ सच्चिदानंद कवच. संगीत दिहले बाड़े राजेश गुप्ता-गुणवंत सेन. आ गाना गवले बाड़ें मनोज तिवारी, उदित नारायण, इंदू सोनाली, दीपा घोष, सुप्रिया आ पामेला जैन.

एकरा के कमाल के फिलिम बतावत मनोज तिवारी कहले कि ‘अपने बेगाने’ के दर्शक खूब पसंद करीहें. एह फिल्म के राजस्थान के खूबसूरत लोकेशन पर फिल्मावल गइल बा.


(शशिकांत सिंह के रपट से)

ऊ दिन कइसे भूलाएम – कल्पना शाह

पंजाब के लड़की. पिता पायलट हउवें बाकिर ओकरा ऊँचाई से डर लागेला. मेडिकल में जाये के मन रहे बाकिर बीएससी करे के पड़ल. ओकरा बाद डायटिशियन के कोर्स कइली आ एगो अस्पताल में नौकरियो मिल गइल. बाकिर कहल जाला कि आदमी के किस्मत ओकरा के ओहिजा ले के चलिये जाला जहाँ ओकरा जाये के रहेला.

बाति हो ता कल्पना शाह के. जे आजु भोजपुरी सिनेमा में बुकंदी पर चहुंप चुकल बाड़ी. अपना फिल्म में आवे के संजोग का बारे में बतावत कल्पना कहली कि नाचे के शौक रहे से चंडीगढ़ में एगो स्टेज शो में नृत्य कइली. बाद में ऊ परफारमेंस कवनो चैनल पर देखावल गइल त अशोक जैन कहीं से उनकर नम्बर पता कर के उनुका के फोन कइलें आ पुछलें कि एक भोजपुरी फिल्म में काम करोगी ? फिल्म रहे “बड़की माई”. थोड़ हिचकिचाहट का बाद हँ कह दिहली आ जब शूटिंग शुरु भइल त पहिलके शॉट ओके हो गइल.

फिल्म में आवे में घरो वालन के पूरा सहयोग मिलल. फेर त “भईया के साली, जोगी जी धीरे धीरे, प्रधान जी, प्रेम पुजारन, जब केहू दिल में समा जाला, मार देब गोली केहू ना बोली, कसूर, लखैरा, अपने बेगाने, हम हईँ निरहुआ के जीजा, आ निरहुआ अनाड़ी समेत कई गो फिल्म में काम कर चुकल बाड़ी भा करत बाड़ी.

भोजपुरी सिनेमा में अश्लीलता का बारे में कल्पना के कहना बा कि जतना बा ना ओह ले बेसी के शोर बा. सगरी भोजपुरी के बदनाम करे खातिर हो रहल बा. अश्लील सीन भा संवाद कबहियो फिल्म के मुख्य पात्र का बीच ना होखे बलुक ओकरा के एगो अलगे ट्रैक पर राखल जाले. बाकिर ईहो जरुरी नइखे कि वइसनो सीन राखले जाव. दर्शक के बढ़ियो मनोरंजन दिहल जा सकेला.


(स्रोत – संजय भूषण पटियाला)

जब मनोज तिवारी फफक फफक के रो दिहलें

भोजपुरी सिनेमा के मेगास्टार मनोज तिवारी बहुते मृदुल आ भावुक इंसान हउवें. एकर एगो नजारा हाल ही में बालीवुड के मशहूर निर्माता के सी बोकाडिया के भोजपुरी फिल्म अपने बेगाने का डबिंग पर देखे के मिलल जब मनोज तिवारी फफक फफक के रो पड़लें.

भइल कुछ ई कि रियलिटी शो बिग बॉस में जाये से एक रात पहिले मनोज तिवारी मंबई का अंधेरी में “पार्क एवेन्यू स्टूडियो” में फिल्म अपने बेगाने के डबिंग करे चहुँपले. बहुत मजा से डबिंग होत रहुवे जब फिल्म के एगो सीन आइल. ओह सीन में ऊ बहुत दिन बाद अपना घरे लवटत बाड़े. घरे चहुँपला पर देखत बाड़न कि ताला लागल बा. बहुत पूछ ताछ कइला का बाद पता चलल कि उनका बाबूजी के देहान्त हो चुकल बा. एह सीन का डबिंग का दौरान मनोज तिवारी टूट गइलें आ फफक फफक के रो दिहलें.

बाद में जब अपना पर काबू पवलें त बतवलें कि उनकर बाबूजी चाहत रहलें कि ऊ बड़का गायक बनसु. भाग्यचक्र से ऊ गायक बनलें, मशहूरो हो गइलें बाकिर तबले अतना समय गुजर गइल रहे कि बाबूजी दुनिया छोड़ के चल गइलें

रिश्ता के जड़ के बयान करत एह फिल्म अपने बेगाने के निर्माण ललित मोदी कइले बाड़े. मुख्य किरदारन में मनोज तिवारी का साथे मोनालिसा, विक्रांत, अवधेश मिश्रा, कल्पना शाह, रीना रानी, सीमा सिंह, एयाज खान, गोपाल राय, देव मल्होत्रा, आ अली खान बाड़े.


(स्रोत : प्रशान्त निशान्त)