अवधेश मिश्रा के खतरनाक लुक

अभिनय आ लउके में अनेके तरह के लुक खातिर मशहूर भोजपुरिया खलनायकी के सिरमौर अवधेश मिश्रा के एगो खतरनाक लुक जल्दिये लउके वाला बा भोजपुरी फिल्म “वर्दी वाला गुंडा” में. एह फिल्म के निर्माता पप्पू राजेश आ निर्देशक फारुख अहमद सिद्दीकी हउवें. फिलिम के शूटिंग पूरा हो गइल बा. अह फिल्म में नायक दिनेश लाल यादव निरहुआ, नायिका अंजना सिंह आ खलनायक अवधेश मिश्रा के मुख्य भूमिका बा. अवधेश मिश्रा छठू महाराज नाम के एगो खतरनाक खलनायक बनल बाड़े जवना का सोझा पुलिस, अधिकारी, आम लोग सबही मूड़ी झुकवले रहले. काली के पुजारी छठू महाराज के जुबान कम बोलेला आँखे से ऊ सगरी बात कह डालेला.

गौरतलब बा कि फारुखे अहमद सिद्दीकी निर्देशित फिल्म “प्रेम के रोग भइल” में अवधेश मिश्रा एगो अधेड़ खलनायक बनल रहले जवना के मेहरारू के स्वांग धइले निरहुआ से प्रेम हो जात बा. अपना हर फिल्म में अभिनय में विविधता आ तरह तरह से लउकला का चलते अवधेश मिश्रा के वर्चस्व लमहर दिन से कायम बा आ भोजपुरी के कवनो बड़की फिलिम उनुका बिनु अधूरा लागेला.


(रंजन सिन्हा के रपट)

अवधेश मिश्रा के नया अवतार

अभिनय आ लुक में बदलाव ले आवत रहे खातिर मशहूर भोजपुरिया खलनायकी के सिरमौर अवधेश मिश्रा के एगो अउर खतरनाक लुक जल्दिये फिल्म “वर्दी वाला गुंडा” में नजर आवे वाला बा.

निर्माता पप्पू राजेश आ निर्देशक फारुख अहमद सिद्दीकी के नइकी फिल्म “वर्दी वाला गुंडा” के शूटिंग अबहीं पनवेल में चलत बा. सुपर स्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ, हॉट केक अंजना सिंह आ सिरमौर खलनायक अवधेश मिश्रा मुख्य भूमिका में बाड़े.

अवधेश मिश्रा बतवले कि एह फिल्म में ऊ छग्गू महाराज नाम के एगो खतरनाक खलनायक का किरदार में बाड़न जेकरा आगा पुलिस अधिकारी आ आम लोग सभे नतमस्तक रहेला. काली के पुजारी छग्गू महाराज के जुबान से बेसी ओकर आँख बोलेला.

निर्देशक फारुख अहमद सिद्दीकी के पिछला फिल्म “प्रेम के रोग भइल” में अवधेश मिश्रा एगो अधेड़ खलनायक का भूमिका में थे रहले जेकरा आपन प्यार पावे खातिर औरत बनल निरहुआ से प्यार हो जात बा. अपना हर फिल्म में अभिनय में बदलाव आ खतरनाक लुक का चलते अवधेश मिश्रा के वर्चस्व लमहर समय से कायम बा आ भोजपरी के कवनो बड़का फिलिम उनुका बिना अधूरा लागेला.


( उदय भगत के रपट से)

गंगा किनारे शनिचर सिंह के आतंक

एह घरी उत्तर प्रदेश के चुनावी माहौलो में, जब पुलिस बहुते सक्रिय बिया, बनारस में शनिचर सिंह नाम के एगो खूंखार अपराधी दहशत फइला के रखले बा. प्रशासन ओकरा सोझा बेचारा बनि गइल काहे कि ओकरा दू दू गो महारथी राज कुमार पांडे अउर दिलीप जायसवाल से शह मिलत बा.. वइसहो शनिचर सिंह के खासियत रहल बा कि जहँवे जाले तहँवे आतंक मचा देल. एह घरी ऊ बनारस में बाड़े. आ ओहिजा ऊ खुद नइखन आइल उनुका के राज कुमार पांडे आ दिलीप जायसवाल बोलावा भेजके बोलवले बाड़े.

सोचत होखब कि ई शनिचर सिंह आखिर ह के आ कब आ गइल ? त बता देत बानि कि नाम आ काम बदले में माहिर आ खलनायिकी के सिरमौर मानल जाये वाला एह शख्स के असली नाम ह अवधेश मिश्रा, जवन केहु के परिचय के मोहताज नइखन. अपना अदाकारी से भोजपुरी खलनायकी में नया रंग भर देबे वाला अवधेश मिश्रा भोजपुरी के नंबर वन निर्देशक राज कुमार आर.पांडे के फिल्म “गंगा के सौगंध” में शनिचर सिंह नाम के खलनायक का किरदार में बाड़न. अपना हर फिल्म में अपना अभिनय से सभका के कायल बना देबे वाला अवधेश मिश्रा के एह फिल्म में एगो नया लुक दिहल गइल बा.

बकौल अवधेश – ऊ एगो कलाकार हउवन आ उनुकर कोशिश रहेला कि अपना किरदार में बदल जासु, ओकरा के आत्मसात कर लेसु. अगर कलाकार अपना एह काम में सफल हो जाव त परदा पर एकर बढ़िया रिजल्ट देखे के मिलेला.

बहरहाल शनिचर सिंह के आतंक से घबड़इला के जरूरत नइखे काहे कि शनिचर के फन के कचार मारे खातिर ट्रक ड्राइवर सुपरस्टार पवन सिंह आ राइजिंग स्टार खलासी चिंटू एहिजा मौजूद बाड़े.
अपना न्यूज के रपट

हाथी पर से गिरले अवधेश मिश्रा


पिछला दिने पटना में अपना फिलिम “संतान” के प्रोमोशन का दौरान हाथी पर चधल अवधेश मिश्रा के रास ना आइल आ ऊ गिर पड़ले. एह घटना में उनका गोड़ में चोट लागल जवना का बाद डाक्टर उनुका के तीन हफ्ता के बेड रेस्ट फरमा दिहले.

एकरा बावजूद अवधेश मिश्रा निर्धारित कार्यक्रम में शामिल भइले आ कई सिनेमा घर में जा जा के फिल्म “संतान” के बढ़ावा दिहलन.
अवधेश मिश्रा के जल्दी ठीक होखे के शुभकामना !


(स्रोत : प्रशान्त निशान्त)

ज्वालामण्डी में खूब भींजले रवि किशन आ रानी चटर्जी

मुंबई में मानसून के जोरदार आगाज़ का बीच मालाड के मड आइलैण्ड में बनल आलीशान रिसोर्ट तुलसी विहार में भोजपुरी फिल्म ज्वालामंडी – एक प्रेम कहानी के शूटिंग चलत रहे. फिल्म के प्रचारक शशिकांत सिंह आ रंजन सिन्हा के बोलहटा पर पत्रकारन के जब ओहिजा चहुँपल त सामने बगइचे में पानी का फव्वारा का बीचे भोजपुरी सुपर स्टार रवि किशन आ रानी चटर्जी पर एगो गाना फिल्मावल जात रहे. एह गाना के बहुते लवीश तरीका से शूट कइल जात रहे. जिमी जिप कैमरा आ सात गो फव्वारा के इस्तेमाल होत रहे. कानू मुखर्जी पानी में भींजत रवि किशन आ रानी चटर्जी पर गाना के कोरियोग्राफी करत रहले. गाना के बोल रहे ….
‘रिमझिम बरसेला सावन के फुहार….
पिया ले ला हमरा के अपने अङ्कवार….’

एही गाना पर रवि किशन सफेद टी-शर्ट आ पैंट पहिरले आ रानी मुखर्जी नारंगी रंग के साड़ी पहिरले बहुते उत्तेजक डांस करत रही. दू रिहर्सल का बाद गाना के ई बोल शूट भइल त सभे ताली बजावल. गाना के अगिला बोल रहल ‘ले ला आगोश में ओठवा के लाली बोले’.

फुर्सत मिलल त रवि किशन पत्रकारन का सोझा एह फिल्म के जमके तारीफ करत कहले कि फिल्म के निर्देशक जगदीश शर्मा उनुकर ऑल टाईम फेवरिट निर्देशक हउवे. अपना भूमिका का बारे में रवि किशन बस अतने कहले कि हमार भूमिका लोगन के चउँकाई. रानी चटर्जी बतवली कि एह गाना का चलते सबेरही से भींजे के पड़ल बा आ अतना भींजल बानी कि डर लागत बा बेमार मत पड़ जाईं. बतवली कि उनुकर भूमिका फिल्म के प्लस प्वाइंट बा. अब भुमिका का बा एकरा खातिर त ज्वालामंडी – एक प्रेम कहानी देखे के पड़ी.

एही बीच रानी चटर्जी आ रवि किशन पत्रकारन का सामने एगो शर्त राख दिहले कि एगो कलाकार के ले आवत बानी जा जे उनुका के चिह्न जाई ओकरा के एगो स्पेशल गिफ्ट दिहल जाई. जवना महिला कलाकार के बोलावल गइल ओकरा के केहू ना चिह्नपावल त हिंट दिहल गइल कि इनका के रउरा सभे कई फिल्मन में देखले होखब. तबहियो केहू ना चिह्नल. बाद में पता चलल कि ऊ चर्चित खलनायक अवधेश मिश्रा रहले. फेर त सभे हँसे लागल. एह फिल्म में अवधेश मिश्रा वइसने भूमिका करत बाड़े जइसन ‘सड़क’ फिल्म में सदाशिव अमरापुरकर कइले रहन.

निर्देशक जगदीश शर्मा कहले कि ज्वाला मंडी समाज के एगो आईना बा जवना में साँचो लउकत बा आ झूठो. निर्माता राजू सिंह के कहना बा कि एह फिल्म खातिर ऊकतहीं कवनो समझौता नइखन कइले. फिल्म के प्रस्तुतकर्ता मधु सिंहो ‘ज्वालामंडी एक प्रेम कहानी’ के जमके तारीफ कइली. उनकर कहना रहे कि अइसन फिल्म भोजपुरी में आजु ले नइखे बनल. फिल्म में विजय आ लवी रोहतगी के किरदारो खास रही.


(स्रोत – शशिकांत सिंह, रंजन सिन्हा)

८ जुलाई से रिलीज होखे जा रहल बा निरहुआ के औलाद

भोजपुरी सिनेमा के नंबर वन अदाकारा पाखी हेगडे “औलाद” फिल्म में एगो बहुते चुनौतीवाली भूमिका में बाड़ी. भूमिका एगो अइसन नारी के बा जे शादी के सात फेरा में दिहल सातो वचन निबाहत लउकीहे जे अपना पति आ परिवार के खुशी खातिर सब कुछ करे के तईयार बिया. एक से बढ़ के एक संवाद बा उनुकर त सुपरहिट गीतन पर उनुकर थिरकलो बा. खास कर के उनुकर बोलल संवाद “हमार बाबूजी बेऔलाद नइखन” त अबहिये से दर्शकन का जुबान पर चढ़ गइल बा.

दिनेश लाल निरहुआ के होम प्रोडक्शन वाली एह फिल्म के प्रदर्शन ८ जुलाई से बिहार, युपी, आ मुंबई में एके साथ होखे जा रहल बा.

“औलाद” में निरहुआ पाखी हेगडे का जोड़ी का अलावे प्रवेशलाल यादव आ शूभी शर्मो के जोड़ी बा. एह जोड़ी के एगो सीन “दिल वाले दुलहनिया ले जायेगें” में शाहरुख खान आ काजोल पर फिल्मावल सीनके याद दिया दी जवना में सरसो के खिलखिलात खेतन में प्रवेशला शुभी शर्मा के गोदी में उठवले नजर अइहें.

फिल्म के निर्देशक असलम शेख, गीतकार विनय बिहारी, प्यारेलाल यादव, आ श्याम देहाती, अर संगीतकार राजेश रजनीश हउवें. फिल्म के कलाकारन में दिनेशलाल यादव, प्रवेश लाल यादव, पाखी हेगडे, शुभी शर्मा, मनोज टाइगर, अवधेश मिश्रा, संजय पाण्डेय, एयाज खान, अनिल यादव, रत्नेश, माया यादव, आ किरण यादव के मुख्य भूमिका बा. “औलाद” में दर्शकन खातिर एक्शन, इमोशन, आ रोमांस के बेजोड़ संगम देखे के मिली.


(स्रोत – प्रशान्त निशान्त)

शाहरुख़ जइसन भूमिका में अवधेश मिश्रा

बरसो पहिले शाहरुख़ खान के एगो फिल्म आईल रहुवे डर. एह फिल्म में शाहरूख के किरदार प्यार में पागल एगो मनोरोगी के रहुवे. कुछ अइसने किरदार भोजपुरीओ में नज़र आवे वाला बा.

भोजपुरी के सबसे लोकप्रिय खलनायक आ भोजपुरिया बैडमेन का नाम से मशहूर अभिनेता अवधेश मिश्रा जल्दिये प्यार में पागल मनोरोगी का भूमिका में नज़र अइहें. अमेरिकन कंपनी पन फिल्म्स के भोजपुरी फिल्म जरा देब दुनिया तोहरा प्यार में में अवधेश मिश्रा फिल्म ला हीरोइन शिखा से पागलपन का हद तक प्यार करत बाड़े. ओने शिखा रवि किशन से प्यार करत बाड़ी. अपना प्यार शिखा के पावे खातिर अवधेश बहुते खून खराबा करत बा बाकिर जइसन कि फिल्मन में अमूमन होला हिरोइन आखिरकार हीरोवे के मिलत बिया.

अवधेश कहतारे कि फिल्म के निर्देशक धीरज कुमार उनका किरदार के जीवंत बनावे खातिर ढेरे मेहनत कइले बाड़न. अमेरिकन तकनीक से बनल भोजपुरी के एह पहिलका फिल्म जरा देब के संगीत आजु काल्हु बहुते लोकप्रिय हो रहल बा. राजेश रजनीश का संगीत से सजल एह फिल्म के गीतकार विनय बिहारी, श्याम देहाती आ प्यारेलाल हउवें. फिल्म में तीन गो आइटम सोंग बा जवना के सीमा सिंह, तस्लीम, आ कोमल ढिल्लन पर फिल्मावल गइल बा.

फिल्म एही महीना बिहार में रिलीज़ होखे जा रहल बिया.


(स्रोत : उदय भगत)

जला देब दुनिया …… के म्यूजिक रिलीज

भोजपुरी के सदाबहार सुपर स्टार रविकिशन पिछला दिने एगो भव्य समारोह में कांस फिल्म फेस्टिवल में शामिल भइल आ अमेरिकन डिजिटल तकनीक से बनल पहिलका भोजपुरी फिल्म जला देब दुनिया तोहरा प्यार में के म्यूजिक लौंच कइले. एह मौका पर फिल्म के निर्माता पवन शर्मा, प्रसिद्ध वितरक संजय सिन्हा, भोजपुरी फिल्मन के जानल मानल निर्मात्री मोनिका सिन्हा, आ भोजपुरी सिनेमा के मशहूर खलनायक अवधेश मिश्रा समेत कई गो गणमान्य लोग मौजूद रहुवे.


एह मौका पर आपन बात कहत रवि किशन कहले कि हमनी खातिर ई गर्व के बात बा कि भोजपुरी फिल्मन का निर्माण में अमेरिकनो कंपनी उतर गइल बिया. ऊ आगे कहलन कि अमेरिकन कंपनी पन फिल्म आगहू भोजपुरी फिल्म बनावत रही. फिल्म के निर्माता पवन शर्मा कहले कि पन फिल्म फोर्चून टेलर जइसन अवार्ड विनिंग अंग्रेजी फिल्म बना चुकल बिया आ भारतीय फिल्म बाजार में उतरे के फैसला कइलस त पहिले सर्वे करवलस आ देखलस कि अगर निमन फिल्म बनावल जाय त भोजपुरी से बढ़िया दोसर कवनो भाषा नइखे. कहलन कि पन फिल्म से जुड़ल सुधीर कदम आ तेजस्वी कदम अमेरिका में रहला का चलते एहिजा आजु ना आ पावल.

खलनायक अवधेश मिश्रा कहले कि वइसे त हर फिल्म में रविकिशन का हाथे मार खात आइल बाड़े बाकिर एह दुनु जने के टक्कर बाकी फिल्मन से अलगा बा. जला देब दुनिया तोहरा प्यार में के धीरज कुमार निर्देशित कइले बाड़न, जे पहिले संजय लीला भंसाली आ राम गोपाल वर्मा जइसन नामचीन निर्देशकन का सहायक का रूप में काम कर चुकल बाड़े. रेड वन ( बिना रील वाले) कैमरा से शूट भइल भोजपुरी के एह पहिलका फिल्म के संगीत राजेश रजनीश के ह. फिल्म का दोसर मुख्य किरदारन में शिखा, ब्रृजेश त्रिपाठी, कोमल ढिल्लन, विनोद मिश्रा , सी.पी.भट्ट, आ फूल सिंह शामिल बाड़न जा.


(स्रोत : उदय भगत)

खलनायक अवधेश मिश्रा घवाहिल हो के अस्पताल में भरती

भोजपुरी सिनेमा के जानल मानल खलनायक अवधेश मिश्रा पिछला दिने लोफर का शूटिंग में घवाहिल हो गइलें जवना का बाद उनका के अस्पताल में भरती करावे के पड़ल. सीन में काँच तोड़े का दौरान ऊ खुदे घवाहिल हो गइलें.

शूटिंग सिलवासा में चलत रहुवे आ सीन के जरुरत से निर्देशक रवि सिन्हा बाजार से ताफस काँच मँगवले जवना के गाड़ियन में लगावल जाला. एह काँच के खासियत होला कि टूटला का बाद टुकड़ा टुकड़ा होके छितरा जाला आ ड्राइवर भा सवारी के बेसी नुकसान ना हो पावे. बाकिर दुकानदार ताफस काँच का जगहा असली काँच दे दिहलस. शूटिंग खातिर फाइट मास्टर डुप्लीकेट मँगवले रहलें बाकिर अवधेश खुदे सीन करे लगलें. काँच तूड़त घरी काँच के टुकड़ा उनका देह में कई जगहा घुस गइल. शूटिंग होत घरी दिनेशलाल यादव निरहुआ आ पाखी हेगडे मौजूद रहली. अवधेश के तुरते बगल के अस्पताल चहुँपावल गइल जहाँ आपरेशन कर के देह से काँच के टुकड़ा निकालल गइल. होश में अवते अवधेश शूटिंगे पूरा करे के इच्छा जतवले.

लोफर के निर्माण मोनिका सिन्हा करत बाड़ी.


(स्रोत : शशिकान्त सिंह, रंजन सिन्हा )