धूम धाम से लॉन्च भइल “गंगादेवी” के फर्स्ट लुक

ढेरे दिन से सुर्खियन में रहल निर्माता दीपक सावंत आ निर्देशक अभिषेक चड्ढ़ा के भोजपुरी फिलिम “गंगा देवी” के फर्स्ट लुक मीडिया क सोझा लॉन्च कइल गइल. एह मौका पर फिल्म से जुड़ल सगरी सदस्यन दिनेशलाल यादव निरहुआ, पाखी हेगड़े, गिरीश शर्मा, संगीतकार मधुकर आनद, कोरियोग्राफर पप्पू खन्ना के अलावा सैकड़ों मीडिया कर्मी मौजूद रहले. समारोह के ख़ास आकर्षण रहलन बॉलीवुड के बैड मैन गुलशन ग्रोवर जे पहिला बेर एह फिलिम से सिनेमा भोजपुरी में आपन डेग बढ़वले बाड़े. एकरा अलावे एह फिलिम में अमिताभ बच्चन आ जया बच्चन के जोड़ीओ पहिला बेर भोजपुरिया दर्शकन का सोझा होखी.

निर्माता दीपक सावंत क मुताबिक़ उनुकर फिल्म भोजपुरी दर्शकन के पहिला बेर उनुका वास्तविक समस्यन से रू-ब-रु कराई. निर्देशक अभिषेक चड्ढ़ा के मुताबिक़ “गंगा देवी” समाज में औरतन के स्थितियन के चित्रण कइले बिया.

फर्स्ट लुक लॉंचिंग का एह मौका पर गुलशन ग्रोवर भोजपुरी समाज के शान में खूब कसीदा गढ़ले आ फिल्म बनत घरी अपनावल सहयोगी रुख ला अपना साथी कलाकारन से आभार जतवलें. सामाजिक मुद्दा पर बनल फिल्म “गंगा देवी” के बेसी से बेसी दर्शकन ले चहुँपावे खातिर एह फिल्म के हिदी संस्करण “श्रीमती नेताजी” के नाम से रिलीज होखे वाला बा.


(स्पेस क्रिएटिव मीडिया के रपट)

Advertisements

“घुंघरू बजा के”.

घुंघरू बजते ही हमारे आस-पास का पूरा माहौल संगीत की लय पर थिरक उठता है. लेकिन दीपक सावंत और अभिषेक चड्ढ़ा की फिल्म “गंगादेवी” में जब एक अपांग, तोतला और चुगलखोर शख्स किरदारों के आपसी संबंधों के बीच सेंध लगाने के लिए घुंघरू की झंकार छेड़ेगा, तो भोजपुरी फिल्मों में खलनायकी के सारे तार झुनझुना उठेंगे… “ता हुदूर धुंधरु बजा ते..” के तकिया कलाम के साथ इस फिल्म के सारे किरदारों को अपनी उँगलियों पर नचानेवाले अदाकार हैं-“गिरीश शर्मा”.. हालांकि इस फिल्म में दिनेशलाल यादव ‘निरहुआ’, पाखी हेगड़े, भरत शर्मा व्यास, और बॉलीवुड के बैडमैन गुलशन ग्रोवर जैसे धुरंधर मौजूद हैं. लेकिन खुद निर्देशक अभिषेक चड्ढ़ा की मानें तो ‘घुंघरूलाल’ उनके पसंदीदा किरदार हैं.. अब तक कई फिल्मों में अपनी खलनायकी के तेवर दिखा चुके गिरीश शर्मा इस फिल्म में अपनी ज़िन्दगी के सबसे यादगार रोल में नज़र आयेंगे. बकौल गिरीश शर्मा ‘घुंघरूलाल’ की खासियत ये है कि इसकी कॉमेडी में ही खलनायकी का धार मौजूद है. घुंघरू के चेहरे पर जब भी मुस्कराहट तैरती है तभी कहानी के पेंच उलझने लगते हैं. उसकी हंसी दूसरों के दिलों में खौफ पैदा कर देने की क्षमता रखती है.. यही इस किरदार की सबसे बड़ी खासियत है यानि ‘गंगादेवी’ भोजपुरी सिनेमा में खास चरित्रों की एक नयी परिभाषा गढ़ने को तैयार है – “घुंघरू बजा के”


(स्रोत – स्पेस क्रिएटिव मीडिया)

भोजपुरिया पर्दे पर बैडमैन की इन्ट्री

‘बैडमैन नाम ह हमार….’ अगर ये डायलॉग हिंदी फिल्मों के मशहूर खलनायक गुलशन ग्रोवर सुनाएँ तो कैसा लगेगा ? जाहिर है ऐसे में सिर्फ बॉलीवुड ही नहीं भोजीवुड भी चौंक जायेगा. तो क्या अब हिंदी फिल्मों का बैडमैन भोजपुरी फिल्मो में अपनी खलनायकी दिखायेगा ?

जी हाँ. अब अपने बैडमैन भईया, यानी कि गुलशन ग्रोवर की भोजपुरिया पर्दे पर इंट्री होनेवाली है और गुलशन भोजपुरिया स्टाइल में बिल्कुल ठेठ भोजपुरी डायलॉग बोलते नज़र आयेंगे. निर्माता दीपक सावंत की निर्माणाधीन फिल्म ‘गंगा देवी’ से बैडमैन भोजपुरिया पर्दे पर अपनी जोरदार इंट्री करनेवाले हैं. फिल्म के निर्देशक हैं अभिषेक चड्डा और मुख्य कलाकार हैं – दिनेश लाल निरहुआ, पाखी हेगड़े, अमिताभ बच्चन, जया बच्चन और बैडमैन गुलशन ग्रोवर.

अब देखना ये है कि जब बैडमैन ठेठ भोजपुरिया अंदाज़ में फिल्म ‘गंगा देवी’ का ये डायलौग बोलेंगे,- ‘गंगा में नंगा नहाई का अउर निचोड़ी का ?’ तब भोजपुरिया दर्शक उन्हें किस कदर सिर आँखों पर बैठाते हैं. बतौर विलेन गुलशन ने बॉलीवुड फिल्मों में जिस तरह राज किया है ऐसे में दो राय नहीं कि वो ‘गंगा देवी’ में इंट्री करने के बाद पुरे भोजपुरिया समाज में छा जाए


(स्रोत – स्पेस क्रिएटिव मीडिया)