अपना खलनायकी से दर्शकन के दिल जीते के भरोसा बा बिपिन सिंह के

अनेके सफल भोजपुरी फिलिमन में अपना खल भूमिका से चर्चित अभिनेता विपीन सिंह अब पूरा तरह से खलनायिकीए करे ला समर्पित हो गइल बाड़ें. बिपिन सिहं के आवे वाली फिलिमन में कालिया, भाई जी, विजय तिलक, मेहरारू बिना रतिया कइसे कटी, लागल बा प्यार के बुखार वगैरह फिलिम शामिल बाड़ी सँ. कालिया में इंस्पेक्टर माधव पाण्डेय, आ भाईजी में शूटर पुजारी के जोरदार भूमिका कइले बाड़ें बिपिन सिहं.

पर साल के चर्चित हिट फिलिम “फूल बनल अंगार” से खलनायिकी में चमकल बिपिन सिंह आजु भोजपुरी के सगरी निर्माता-निर्देशकन साथे काम करत बाड़ें. बिपिन के कहना बा कि ऊ अपना खलनायिकीए से दर्शकन के दिल पर राज करीहें.


(भोजवुड न्यूज के रपट)

फूल बनल अंगार के शूटिंग जारी बा


लेखक निर्देशक फहीम खान के भोजपुरी फिल्म “फूल बनल अंगार” के शूटिंग आजुकाल्हु गुजरात के राजपिपला में चल रहल बा. एह महिला प्रधान एक्शन फिल्म में रानी शोलो पहिला बेर नजर आवे वाली बाड़ी. मारधाड़ आ कॉमेडी से भरपूर एह फिल्म देख के सत्तर के दशक के सिनेमा याद आ जाई. फिल्म के निर्माता अविनाश तिवारी, गीतकार संगीतकार पवन मिश्रा, नृत्य निर्देशन रामदेवन, फाईट गब्बर सिंह के आ कैमरा श्यामल दा के बा. रानी चटर्जी, गोपाल राय, बिपिन सिंह, दीपक भरियाला, पूर्णिमा राय, सीमा सिंह वगैरह एकर मुख्य कलाकार बाड़े.


(स्रोत – संजय भूषण पटियाला)

बिपिन सिंह हर तरह के किरदार निभवले बाड़े


बिपिन सिंह अइसन भोजपुरिया कलाकार हउवन जे भोजपुरी सिनमा में हर तरह के फिल्मी किरदार निभा चुकल बाड़न आ हिन्दीओ फिल्म, जइसे कि “आगे से राइट, बेनी आ बबलू, साथ साथ” वगैरह, में काम कर चुकल बाड़न. रंगमंच के बीस साल से बेसी के अनुभव राखे वाला अभिनेता बिपिन सिंह हिन्दुस्तान भर में रंगमंचन पर आपन अदाकारी देखा चुकल बाड़न. बिपिन सिंह के फिल्मी कैरियर रविकिशन के आपन निर्माण कंपनी के बनावल फिल्म “बिहारी माफिया” से शुरु भइल आ तब से ऊ लगभग पचीस फिल्मन में काम कर चुकल बाड़न आ हर तरह के किरदार कर चुकल बाड़न. ऊ भोजपुरी टीवी चैनल महुआ टीवी पर अपना “लट्ठमार” अन्दाज में सामाजिक समस्या के गँवई तरीका से पेश कर के दर्शकन के वाहवाहीओ बटोरत बाड़न. बिपिन सिंह के नयका फिल्म “प्रीत के रीत निभइह सजना” के शूटिंग अगिला महीना से शुरु होखे जा रहल बा. एह फिल्म के निर्माण एगो कार्पोरेट कंपनी स्पीड मीडिया करत बिया आ एकर निर्देशक बाड़न अरविन्द ठाकुर. निर्मता हवें अभिषेक तिवारी.
(स्रोत – संजय भूषण पटियाला)