मनोज तिवारी के नयका एलबम ‘जय बिहार जय जय बिहार’

भोजपुरी मेगा स्टार आ बिहार के लल्ला मनोज तिवारी एगो नया अलबम में आपन बिहारी तेवर देखावे जात बाड़न. एह एलबम के नाम बा ‘जय बिहार जय जय बिहार’ जवना के जानल मानल संगीत कम्पनी विकॉन म्यूजिक जारी करत बिया. इहे कंपनी सदी के महानायक अमिताभ बच्चन आ मनोज तिवारी के आवाज. में ‘हनुमान चालीसा’ जारी कइले रहल. ‘जय बिहार जय जय बिहार’ के शूटिंग आजुकाल्हु बिहार के वैशाली आ दानापुर छावनी में चलत बा आ निर्देशक बाड़ें समर मुखर्जी. वैशाली ऐतिहासिक रूप से समृद्ध आ कला संस्कृति के दृष्टिकोण से बहुते धनी जगहा ह जहवाँ दुनिया के पहिला लोकतंत्र स्थापित भइल रहे. भगवान बुद्ध के एह धरती पर तीन बेर आगमन भइल रहे. ईसा पूर्व छठी सदी के उत्तर आ मध्य भारत में विकसित 16 महाजनपदन में वैशाली के खास महत्व रहे. नेपाल के तराई से लिहले गंगा के मैदान का बीच पसरल एह भूमि पर वज्जियन आ लिच्छवियन के संघ (अष्टकुल) गणतांत्रिक शासन व्यवस्था के शुरुआत कइले रहे. तब एहिजा के शासक जनता के प्रतिनिधि चुनत रहलें. लिच्छवियन के नगरवधु आम्रपाली के भला के भुला सकेला. एहिजा के अशोक स्तंभो देखे लायक बा.

मनोज तिवारी कहलें कि एह राज्य के ऐतिहासिक धरोहरन के अतना नजदीक से देखे के ई पहिला मौका रहल. एही क्रम में दानापुर छावनी जाए के मौका मिलल. एह छावनी के बीच से करीब तीन किलोमीटर ले रास्ता पटना के आरा से जोड़ेला आ एह रास्ता पर चले वाला हर आदमी सेना के अनुशासन में नजर आवेला. एहिजा शूटिंग के अनुमति लेबे खातिर जब मनोज तिवारी छावनी प्रमुख से मिललन त शूटिंग के अनुमति दे दिहलन आ जवाननो के पूरा वर्दी में उपलब्ध करवलें. फेर हमनी का मिल के राग छेड़ली जा कि ‘जय बिहार, जय जय बिहार’.


(शशिकांत सिंह, रंजन सिन्हा के रपट)

जयाप्रदा अइली सिनेमा भोजपुरी में

हिंदी सिनेमा के जानल मानल अदाकारा जयाप्रदा अब भोजपुरी फिलिम में मनोज तिवारी संगे नजर आवेवाली बाड़ी. जयाप्रदा एह फिल्म के नायिका बाड़ी आ मनोज तिवारी नायक. निर्माण खुद जयाप्रदा करत बाड़ी. संगही संगे जया प्रदा के योजना पूरा तरह से मुंबई शिफ्ट करे के बा जहाँ ऊ एगो प्रोडक्शन हाउस खोलीहें. एह खातिर जुहू में एगो आफिस आ गोरेगांव में एगो फ्लैट खरीदिओ लिहले बाड़ी.

जयाप्रदा हिन्दी फिल्म बनावे खातिर बहुते उत्सुक बाड़ी आ कईएक निर्देशकन से एह बारे में बतियावतो बाड़ी. दिनकर कपूर के साइन कर लिहले बाड़ी जे फिल्म ‘बाजीगर’ में अब्बास-मस्तान के असिस्टेंट रहलें. फिल्म निर्माण के शुरूआत जयाप्रदा एगो भोजपुरी फिलिम बना के करीहें बाकिर ध्यान टिकल रही हिन्दी मार्केट पर. दिनकर कपूर दक्खिन भारत में साल 1993 में बनल सुपर हिट फिल्म ‘मातृ देवो भवा’ के रिमेक निर्देशित करीहें जवना में मनोज तिवारी आ खुद जयाप्रदा लीड रोल निबाही लोग. मनोज तिवारी बतवलें कि ऊ फिलिम में जयाप्रदा के शराबी पति के रोल करीहें जे बाद में अपना के सुधारे के कोशिश करत बा बाकिर तब ले बहुते देर हो चुकत बा. मनोज तिवारी पहिला बेर कवनो फिलिम में शराबी के रोल करीहें.


(शशिकांत सिंह रंजन सिन्हा के रपट)

मनोज तिवारी सुंदरवन में सजवलें एगो आलीशान गाँव

भोजपुरी मेगा स्टार मनोज तिवारी के नयका घर के घरभोज पर हिंदी आ भोजपुरी सिनेमा के दिग्गजन के जमावड़ा जुटल. अंधेरी पश्चिम के लोखंडवाला से सटल सुंदर वन में मनोज तिवारी के एह आलीशान घर के एगो कमरा के नाम बा “मेरा गांव” त दुसरका कमरा के नाम बा “मेरा बनारस”. मेरा गांव कहाए वाला कमरा में गाँव के रूप बा त मेरा बनारस में बनारसी अन्दाज. ई घर परंपरागत घरन से बहुते अलगा बा. 16वाँ तल्ला पर बनल एह घर के बालकनी में बगइचा बा, आ ओहमें पड़ल झूला बा. एह आलीशान फ्लैट के हर कमरा के बनावट अलग-अलग बा.

एह घर भोज का मौका पर संत मोरारी बापू खुद आशीर्वाद देबे चहुँपले. सगरी दुनिया में राम नाम के परसाद बाँटेवाला संत शिरोमणी मोरारी बापू दक्खिन अफ्रीका से पधरलें आ फेर गुजरात के भावनगर गइलें. मनोज तिवारी कहलन कि बापू के बोलावे खातिर बहुते संकोच से कहले रहन कि पता बा बापू आपन चरण धूलि देबे आ पाएब कि ना बाकिर बापू तईयार हो गइनी आ मनोज तिवारी धन्य धन्य हो गइलें. बतवलें कि संत मोरारी बापू से उनुकर पहिला मुलाकात दू बरीस पहिले मगहर में भइल रहे.

एह घर भोज में मनोज वाजपेयी, राजू श्रीवास्तव, पूर्व क्रिकेटर सलिल अंकोला, संगीतकार इस्माईल दरबार, गायिका उषा उत्थुप, इंपा के अध्यक्ष टी.पी. अग्रवाल, ‘कौन बनेगा करोड़पति’ के विजेता सुशील सिंह, निर्माता विनोद बच्चन, संभावना सेठ, ‘हमारा महानागर’ के संतोष सिंह, निर्माता अभय सिन्हा, फरहान आजमी, गीतकार शब्बीर अहमद, गजेन्द्र चौहान, निर्देशक गजेन्द्र सिंह, निर्माता जीतू शुक्ला अउर रवि किशन, दिनेश लाल यादव, पवन सिंह, विनय आनंद, रंगबाज हैदर काजमी, नंबर वन खलनायक संजय पांडे, नायिका रिंकू घोष आ पाखी हेगड़े, उर्वशी चौधरी, भोजपुरी फिल्म निर्माता जितेश दुबे, आलोक कुमार, नायिका गुंजन पंत, गायक मोहन राठौड़, कॉमेडियन सुनील सावरा, गायक आलोक कुमार, निर्देशक हैरी फर्नांडीज, ममता राउत, बबलू सोनी, परवेशलाल यादव वगैरह का अलावा ‘दोपहर का सामना’ के संपादक प्रेम शुक्ला, ‘अभियान’ के अमरजीत मिश्रा, वरिष्ठ पत्रकार पंकज शुक्ला, प्रभुनाथ दाढ़ी, विकास सिंह, प्रमोद तिवारी आ प्रचारक शशिकांत सिंह मौजूद रहलें.

एहमीका पर मनोज तिवारी के माई आ बड़का भईया साधु शरण तिवारी आ दुर्गा तिवारी सभे मौजूद रहल.


(शशिकांत सिंह रंजन सिन्हा के रपट)

“गैंग्स ऑफ वासेपुर” मनोज तिवारी के धूम मचवलसि

मनोज तिवारी

मनोज तिवारी जब पहिलका एलबम गवलें “बगल वाली जान मारे ले” त भोजपुरी एलबमन के पूरा बाजार खड़ा हो गइल. मनोज तिवारी के भोजपुरी फिल्म “ससुरा बड़ा पईसावाला” से भोजपुरी सिनेमा हिंदी सिनेमा के समानांतर खड़ा हो गइल आ अब जब मनोज तिवारी पहिला बेर कवनो हिंदी फिल्म में गवलें त ओह गाना के धूम भारते ना दुनिया भर में मच गइल. ई फिल्म ह “गैंग्स ऑफ वासेपुर” आ गाना ह “जीयऽ ए बिहार के लाला”. हर जगह एह गाना के तारीफ होखत बा आ गाना पूरा दुनिया में हिट हो चुकल बा.

बिहार आ झारखण्ड क पृष्ठभूमि पर बनल एह फिल्म के ताना बाना कोयला माफिया पर बुनाइल बा आ एही चलते एह गाना खातिर अनुराग कश्यप मनो ज तिवारी के चुनलन आ उनुकर फैसला सही साबित हो गइल. एह सफलता से निर्माता, निर्देशक त खुश बड़ले बाड़ें संगीतकार स्नेहा खेवलकरो पूरा उत्साहित बाड़ी. गीत के सफलता के श्रेय ऊ गीतकार पियूष मिश्रा के देत बाड़ी. मनोजो तिवारी एह सफलता के श्रेय गीतकार आ संगीतकार के देत बाड़ें आ एह मौका खातिर अनुराग कश्यप के आभार जतवले बाड़ें.

वासेपुर के विरोधी बिहारी आ झारखंडी ना हउवें : मनोज
फिल्म “गैंग्स ऑफ वासेपुर” आ अनुराग कश्यप के विरोध करे वालन के मनोज तिवारी बिहार आ झारखंड के दुश्मन बतवलें. पिछला बियफे का दिने जामताड़ा शिव मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में चहुँपल मनोज तिवारी कहलन कि एह जगह के त ऊ पहिले नामो ना सुनले रहलें. अइसनका में मानहानि क बातो कइल बेकार बा. पत्रकारन से कहलन कि एह विवाद क हवा जन दिहल जाव. मनोज तिवारी खुशी जतवलें कि वासेपुर दुनिया भर में चरचा में आइल बा. जे लोग वासेपुर के नाम पर विवाद खड़ा करत बाड़ें ऊ एहिजा के समस्या सामने नइखे आवे दिहल चाहत. कहलन कि फिल्म के मनोरंजक बनावे ला कुछ मसाला जरूर डालल जाला भले ऊ फिलिम कतनो वास्तविकता पर बनल होखे.


(शशिकांत सिंह रंजन सिन्हा के रपट)

फिल्म फेयर का बाद अब स्टारोडस्ट में मनोज तिवारी

भोजपुरी सिनेमा के मेगा स्टार मनोज तिवारी फिल्म फेयर पत्रिका का बाद अब स्टार डस्ट पत्रिको में नजर अइहें. पत्रिका में जगहा भोजपुरी सिनेमा अउर भाषा क बढ़ावा देबे में लागल मनोज तिवारी के हिंदी फिल्म ‘‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’’ में उनकर गावल गाना खातिर दिहल गइल बा. स्टार डस्ट अपना जून २०१२ का अंक में मनोज तिवारी के बारे में लिखले बा कि फिल्म के ई गाना ‘‘जियो ए बिहार के लाला…..’’ फिल्म के हाईलाईट बन गइल बा, पत्रिका के कहना बा कि हिंदी फिलिम में गायक के तौर पर सफल भइला का बाद मनोज तिवारी के बतौर एक्टरो हिंदी सिनेमा में पसंद कइल जाई.


(शशिकांत सिंह रंजन सिन्हा के रपट)

हाजीपुर में इंडस्ट्रियल पार्क क शिलान्यास कइलन मनोज तिवारी


पिछला दिने भोजपुरी मेगा स्टार आ गायक मनोज तिवारी हाजीपुर में उद्यमी विहार के एगो कई तल्ला वाला इंडस्ट्रियल पार्क के शिलान्यास कइलन. हाजीपुर के कुआरी में हजारों लोग का मौजूदगी में मशहूर बिल्डर ‘वास्तु विहार’ के तर्ज पर ओकरे औद्योगिक इकाई ‘उद्यम विहार’ का तरफ से हाजीपुर के लोगन के ई नायाब तोहफा दिहल गइल.

एह मौका पर उद्यम विहार के सीएमडी विनय तिवारी कहलन कि एक साल में ई भवन बन जाई आ तब एहमें दू सौ लघु उद्यम लगावल जाई जवना के बुकिंग शुरु हो गइल बा. बिजली के चौबीस घंटा सप्लाई खातिर तीन मेगावाट के कैप्टीव पावर प्लांटो लगावल जाई. बाद में अइसने पार्क राज्य के बाकिओ शहर में बनावे के योजना बा.

शिलान्यास कइला क बाद मनोज तिवारी उमेद जतवलें कि आवे वाला दिन में बिहार क लोग पंजाब के टिकट कटावल भुला जाई. अइसनका योजना निश्चिते बिहार के बेरोजगारी खतम करे में सार्थक साबित होखी. समारोह में आइल भाजपा के प्रदेश महामंत्री मिथिलेश तिवारी कहलन कि उद्यम विहार के ई प्रयास अनूठा साबित होखी.

एह मौका पर मनोज तिवारी अपना गवनई से लोगन के जम के मनोरंजनो कइलें. उनुकर साथ देत रहली महुआ टीवी क लोकप्रिय गायिका सुरभि.


(शशिकांत सिंह रंजन सिन्हा के रपट)

मनोज तिवारी के गवनई पर झूम उठले सुनवइया

पिछला दिने सारण के दिघवारा में आमी का लगे हराजी में स्व॰ बालेश्वर तिवारी के ११वीं पुण्यतिथि पर वास्तुबिहार के मालिक विनय तिवारी एगो कार्यक्रम आयोजित कइले रहलें. एह जागरण में भोजपुरी फिल्म अभिनेता आ गायक मनोज तिवारी ‘ममतामयी दरबार बा, जग पे तोहरे अधिकार बा अब तो झोलिया हमार भर दे, लइका तोहरा द्वार पर आइल बा, ओकरो दर्शन दे दे’’ गीत जइसहीं शुरू कइलें तइसहीं एह नामचीन गवइया के गवनई पर लोग झूमल शुरु कर दिहल.

एह मौका पर भोजपुरी गायक मनोज तिवारी अंबिका भवानी ला अनेके गीत गा के माहौल के भक्तिमय बना दिहलें. रात एगारह बजे ले चलल एह कार्यक्रम में ऊ करीब दू दर्जन गीत सुनवलें. गीतन का बीच बीच में नृत्य प्रस्तुतिओ होत रहे. जवना में महुआ आ इटीवी चैनल के कई कलाकार आपन प्रस्तुति दिहलें. नेहा, पलक, माया, सोनम वगैरह के फिल्मी नृत्य, सुरसंग्राम के अलका सिंह पहाड़िया आ सुरभि के अलावे बलवीर सिंह अउर प्रदीप शीतले के गवनई ओहिजा मौजूद लोगन के भरपूर मनोरंजन कइलसि.

एह कार्यक्रम में स्थानीय विधायक विनय कुमार सिंह, टाउन डीएसपी अजय कुमार, विजय सिंह, मुखिया संघ के अध्यक्ष राकेश कुमार सिंह, रवींद्र सिंह
के अलावे वास्तु बिहार के मालिक विनय तिवारी, माता शैल देवी, निदेशक मिथिलेश तिवारी, गोपालजी त्रिपाठी, नीलेश तिवारी, मनीष कुमार समेत सैकड़न लोग मौजूद रहे.


(शशिकांत सिंह रंजन सिन्हा के रपट)

बिहार के लल्ला मनोज तिवारी के हिन्दी गाना के दुनिया भर में धूम

बिहार के लल्ला, भोजपुरी मेगा स्टार अउर लोकप्रिय गायक मनोज तिवारी के पहिलके हिंदी फिल्म ‘गैंग ऑफ वास्सेपुर’ खातिर गावल गाना हंगामा मचा दिहले बावे. एह गाना ‘जियो ए बिहार के लल्ला…’ क लोकप्रियता के आलम ई बा कि प्रमुख म्युजिक वेबसाइटन पर अनुराग कश्यप के एह फिल्म के गाना के 5 स्टार रेटिंग दिहल गइल बा. यू ट्यूब पर एह गाना वाला ट्रेलर के लोग खूबे पसंद करत बा.

खुद मनोज तिवारी के भारते ना दुनिया भर से बधाई मिलत बा. फिल्म त पहिलहीं कांस फिल्म फेस्टिवल में शामिल हो चुकल बिया, तमाम चैनलो एह गाना के खूब बजावत बाड़ें. म्यूजिक के टॉप चार्ट में मनोज तिवारी के ई गाना नंबर वन पोजीशन ओर तेजी से बढ़त बा. अनेके लोग एकरा के आपन रिंग टोन बनवले बाड़ें. वइसे मनोज तिवारी एह गीत के लोकप्रियता का पाछे संगीतकार स्नेहा खानविलकर अउर गीतकार वरुण ग्रोवर क कुशलता आ अनुराग कश्यप के दक्षता बतावल बाड़ें.


(शशिकांत सिंह रंजन सिन्हा के रपट)

मनोज तिवारी – रिंकू घोष के जोड़ी पँचवा हाली

सिनेमा भोजपुरी क मेगा स्टार मनोज तिवारी आ हॉट एक्ट्रेस रिंकू घोष के जोड़ी के पँचवी फिलिम ‘गंगा जमुना सरस्वती’ के शूटिंग पूरा हो गइल बा. मनोज तिवारी आ रिंकू घोष के जोड़ी वाली सगरी फिलिमन के दर्शक खूब पसंद करत आइल बाड़े. एह जोड़ी क पहिला फिलिम रहल ‘दरोगा बाबू आई लव यू’, दोसरकी रहल ‘सौगंध’ आ तिसरकी रहल ‘भईया हमार दयावान’. एह जोड़ी क चउथकी फिलिल ‘अंधा कानून’ जल्दिए रिलीज होखे वाली बा आ ओकरा बाद पँचवी फिलिम होखी ‘गंगा जमुना सरस्वती’.


(शशिकांत सिंह, रंजन सिन्हा के रपट)

कान फिल्म फेस्टिवल से बुलावा आइल मनोज तिवारी ला

सिनेमा भोजपुरी के मेगास्टार आ गायक मनोज तिवारी क आवाज़ अब कान फिल्म फेस्टिवलो में सुनल जाई. मनोज तिवारी के गाना से सज पहिलका हिन्दी फिल्म ‘गैंग ऑफ वास्सेपुर’ के कान फिल्म फेस्टिवल में शामिल कइल जात बा. एह फिल्म में मनोज तिवारी के गावल गाना ‘बिहार के लाला….’ एह घरी खूबे चरचा बटोरत बा. एह गाना वाला प्रोमो लोग के खूबे लुभावत बा.

अनुराग कश्यप क फिल्म ‘गैंग ऑफ वास्सेपुर’ का ज़रिये कान के नेवता मिलला से मनोज तिवारी बहुते खुश बाड़न. कहत बाड़े कि ‘ई एगो अइसन सपना साँच हो गइल बा जवन हम देखलहु ना रहनी. ई गीत चैनल वी, एम टीवी से लिहले हर म्यूजिक चैनल पर निकहा लोकप्रियता बटोरत बा. एह गाना के लोकप्रियता का पीछे संगीतकार स्नेहा खानविलकर आ गीतकार वरुण ग्रोवर क कुशलता अउर अनुराग कश्यप के दक्षतो शामिल बा. हमरा आवाज़ के अतना बढ़िया इस्तेमाल करे खातिर हम एह लोग के आभारी बानी.’

मनोज तिवारी भरोसा दिहले बाड़न कि एह कान फिल्म फेस्टिवल में ऊ पूरा भोजपुरिया अंदाज़ में शामिल होखीहें. निर्देशक अनुराग कश्यम क बेहद महत्वकांक्षी फिल्म ‘गैंग ऑफ वास्सेपुर’ 65वाँ कान समारोह में देखावल जाई. ई समारोह 16 मई से शुरु हो गइल बा. अनुराग कश्यप कहलें कि उनुका कान ले चहुँपे मे ढेर समय लागल. कहलन कि ‘कान समारोह फिल्मकारन ला मक्का हवे, लोग सोचेलें कि जवन फिल्म कान में जात बिया ऊ एगो कला फिल्म होखी. बाकिर हमार फिल्म खाँटी व्यावसायिक फिल्म हवे. हमरा ला कान में शामिल होखल बहुते गौरव क बात बा.’

मनोज तिवारी का बारे में अनुराग कहलन कि बिहारी पृष्ठभूमि पर बनल एह फिल्म से मनोज तिवारी के अलगा राखे के सोचलो ना जा सकत रहे.

अनुराग के कहना बा कि ‘गैंग ऑफ वास्सेपुर’ उनुकर सबले मंहगी फिल्म हवे. फिल्म दू हिस्सा में बनल आ एकर लंबाई पाँच घंटा से बेसी बा. बिहार के पृष्ठभूमि पर बनल एकर कहानी बदला के भावना पर बा. फिल्म के मुख्य कलाकारन में मनोज वाजपेई, हुमा कुरैशी, तिगमांशु धूलिया, नवाजुद्दीन सिद्दीकी अउर रीमा सेन क मुख्य भूमिका बा.


(शशिकांत सिंह, रंजन सिंहा के रपट)