सुप्रेरणा के कमाल

एके साथ एके दिन एके अभिनेत्री के दू गो फिलिम रिलीज होखल आ दुनु के बढ़िया चलल ई साबित करत बा कि उनुका में अभिनय कला कूट कूट के भरल बा. पिछला दिने सुप्रेरणा सिंह के ” कलुवा भईल सयान” अउर “जानवर” एक ही दिन बिहार में रिलीज कइल गइल आ दुनु सफल रहली सँ. कुछ सिनेमाघर में अबहीं ले दुनु फिलिम चलत बाड़ी सँ.

सुप्रेरणा सिंह के जल्दिए रिलीज होखे वाली फिलिमन में निर्माता बालजीत सिंह आ निर्देशक अनिल के फिलिम ” गजब सिटी मारे सैया पीछुवारे”, आ निर्माता निर्देशक रमाकांत प्रसाद के ” हिम्मतवाला” के नाम बा, हिम्मतवाला में सुप्रेरणा मेहमान कलाकार बाड़ी बाकिर एगो गाना में उनुका पर ” अब ही उतरल ना नथूनिया मे” विराज भट्ट संगे फिल्मावल गइल बा.


(भोजवुड न्यूज के रपट)

Advertisements

सुप्रेरणा सिंह के मुकाबला खुद अपने से बा

बेहद सादगी भरल सुन्दरता के प्रतिमा आ अपना अभिनय कला से सभके दीवाना बना देबे वाली अदाकारा सुप्रेरणा सिंह अबले दर्जनों हिट फिलिमन के हिस्सा बन चुकल बाड़ी, दक्खिन भारत के एह सफल अदाकार के कायल निर्माता, निर्देशक, टेक्नीशियन समेत दर्शको हो गइल बाड़ें. अब ओही सुप्रेरणा क मुकाबला खुद से होखे जात बा काहे कि 15 जून से बिहार में उनुकर दू गो फिलिम संगही रिलीज भइल बा दुनु में उनुकर अभिनय लाजवाब बा. एहमें एक फिल्म निर्माता-निर्देशक रमाकान्त प्रसाद के ‘जानवर’ आ दुसरकी निर्माता रितेश ठाकुर के फिल्म ‘कलुआ भईल सयान’ हवे. अब सुप्रेरणा सिंह के चाहे वाला एह में अझूराइल बाड़ें कि पहिले कवन फिलिम देखल जाव.

सुप्रेरणा सिंह के अउरीओ कई गो फिलिम रिलीज का तइयारी मे बाड़ी सँ जवना में ‘गज़ब सीटी मारे सैयां पिछवारे, ‘राम रहीम के नाता’, ‘हिम्मत वाला’, ‘ज्वाला’ आ ‘दलाल’ वगैरह के नाम शामिल बा.


(अपना न्यूज के रपट)

भोजपुर की लैला… दक्खिन के छैला..

भोजपुरी इंडस्ट्री में झंडा फहरवला का बाद सुप्रेरना सिंह के विजय रथ अब तेलगु फिलिमन में आपन विजय पताका फहरावत बा. वइसे तेलगु फिलिमन से सुप्रेरना के नाता बहुते पुरान ह. काशीपत्तनम आ नचाअलाद जइसन कामयाब फिलिमन से सुप्रेरना दक्खिन भारत में अपना प्रशंसकन के एगो बड़हन जमात बना लिहले बाड़ी. बहरहाल ‘नत्तिलोकपल्लू’नाम के एह तेलगु फिल्म में सुप्रेरना के जोड़ीदार होखीहें दक्खिन के सुपरस्टार भरत, जे एगो नामी राजनीतिक परिवारो से ताल्लुक राखेले.

एह रोमांटिक फिल्म में सुप्रेरना एगो बदमिजाज रईसजादी के रोल में बाड़ी जबकि भरत एगो गरीब आशिक बनल बाड़न जे अपना महबूबा के पावे खातिर अनेके मुसीबत झेलत बा. एह फिल्म में एह जोड़ी के मिजाज आ गेटअप देख के हूर के मिलल लंगूर वाला कहावत चरितार्थ होखत लउकी.


(स्पेस क्रिएटिव मीडिया के रपट से)

दक्खिन गइली सुप्रेरणा

सिनेमा भोजपुरी में कामयाबी के परचम लहरवाला का बाद दक्खिन से आइल सुप्रेरना सिंह फेरू दक्खिन के रूक कर लिहली. हालही में सुप्रेरना आंध्रप्रदेश के उपमुख्यमंत्री के पोता आ दक्खिन के स्टार भारत का साथे तेलगु फिल्म ‘नुत्तिलोकप्पलु’ साइन कइली जवना के शूटिंग एह घरी हैदराबाद में जोर-शोर से चलत बावे.

एहसे पहिले ‘काशीपट्टनम’, ‘नचाआलाद’ अउर ‘लवर्स’ जइसन तेलगु फ़िलिम कर चुकल सुप्रेरना के दक्खिन भारत में एगो बड़हन प्रसंशक वर्ग मौजूद बा. बावजूद एकरा एह फिल्म खातिर सुप्रेरना के एगो बहुते कड़ा प्रतियोगिता से गुजरे के पड़ल. फिल्म के हीरोइन चुने खातिर कई गो शहरन में खास तरह के ऑडिशन राखल गइल रहे जवना में जीत सुप्रेरना के भइल आ उनुका के फिल्म के नायिका बना दिहल गइल.

सुप्रेरना अबले जतना तेलगु फिलिम में काम कइले बाड़ी, ऊ सगरी कामयाब भइल बाड़ी सँ. उमेद बा कि अबकियो सुप्रेरना के लकी चार्म के फायदा फिल्म ‘नुत्तिलोकप्पलु’ के ज़रूरे मिली.


(अपना न्यूज के रपट से)

भोजपुरी फिल्मों की बात ही कुछ और है – सुप्रेरणा सिंह

– स्पेस क्रिएटिव मीडिया

अपने अनप्रोफेशनल रवैये और दिशाहीनता के कारण भोजपुरी सिनेमा भले ही इन दिनों आलोचना के केंद्र में हो लेकिन इसकी समृद्ध परम्परा और मिठास के मुरीद भी कम नहीं हैं. ऐसी ही एक अदाकारा हैं सुप्रेरणा सिंह जो तमिल, तेलगु, राजस्थानी , मराठी और उड़िया फिल्मों में अपनी खास पहचान बना लेने के बावजूद भोजपुरी फिल्मों में अपनी खास पहचान बनाना चाहती हैं.

मूलतः उत्तर प्रदेश के इलाहबाद की रहनेवाली सुप्रेरणा सिंह राजकुमार पाण्डेय की भोजपुरी फिल्म ‘सात सहेलियां’ से भोजपुरी फिल्मों में कदम रखने से पहले ही साउथ की फिल्मों में एक मुकम्मल पहचान बना चुकी थीं. लेकिन अपनी मातृभाषा की कशिश ही थी जो उन्हें यहाँ खींच लायी. ‘सात सहेलियां’ के बाद ‘लहरिया लुटा ए राजा जी’ कामयाब रही और इसके साथ ही सुप्रेरणा के कदम भोजिवुड में मजबूती से जम गए. इन दिनों ‘राजा जी’ , ‘कलुआ भईल सयान’ और ‘गजब सीटी मारे सैयां पिछवाड़े’ जैसी फिल्मों में काम कर रही सुप्रेरणा इंडस्ट्री की भेड़चाल से दूर रहना ही पसंद करती हैं. भोजिवुड में उनकी पहचान अपनी शर्तों पर काम करनेवाली हीरोईन के तौर पर भी है. सुप्रेरणा के लिए फिल्मों की गिनती बढ़ाने से ज्यादा अहम है उसकी गुणवत्ता पर ध्यान देना और इसके लिए सही सेटअप और सही फिल्मों का चुनाव जरुरी है.

सुप्रेरणा सिंह का करियर इन दिनों पूरे रफ़्तार पर है. सुप्रेरणा सिंह ने हाल ही में रमाकांत प्रसाद की ‘जानवर’ साईन की है. इस फिल्म में उनका रोल काफी चुनौतीपूर्ण है जिसके कई शेड्स है.ज़ाहिर है एक एक्ट्रेस के तौर पर सुप्रेरणा के लिए यह एक बड़ा मौका साबित होगा.

सुप्रेरणा की ख्वाहिश है कि दर्शक उन्हें एक अच्छी अभिनेत्री के रूप में याद रखें. कामयाब और अच्छी अभिनेत्री के बीच के फर्क को तो सुप्रेरणा भी बखूबी समझती होंगी. इसलिए अगर वो कामयाबी के मुकाबले अच्छी एक्टिंग को तरजीह देती हैं तो उनकी ये ख्वाहिश दाद देने के काबिल है.

मनोज पाण्डेय के गिरेबान तक पहुंचे सुप्रेरना सिंह के हाथ

एक्शन किंग मनोज पाण्डेय एक बार फिर झमेले में फंसते नज़र आ रहे हैं. एक्ट्रेस सुप्रेरना सिंह के साथ चल रहा उनका पुराना विवाद इस मोड़ पर आ खड़ा हुआ कि उनके हाथ पाण्डेय जी के गिरेबान तक जा पहुंचे. और वो भी पूरी पुलिस फ़ोर्स के सामने. वैसे घबराइए नहीं क्योंकि हालत अभी तक नियंत्रण में ही है. हम बात कर रहे हैं इसी जोड़ी की आनेवाली फिल्म ‘राजाजी’ की. जिसमें दोनों के बीच की ज़बरदस्त केमिस्ट्री को डायरेक्टर रवि कश्यप ने मनोरंजक अंदाज़ में पेश किया है. रवि कश्यप की इस एक्शन पैक्ड फिल्म को लेकर दर्शकों में ज़बरदस्त उत्साह देखा जा रहा है. फिल्म में मनोज पाण्डेय राजा मिश्रा नाम के एक ऐसे पुलिसिये के किरदार में हैं जो गुंडों से अपने स्टाईल में निपटता है. रवि कश्यप के मुताबिक – ‘राजाजी’ भोजपुरी में बन रही एक्शन फिल्मों के मुकाबले इस मामले में सबसे अलग है कि यहाँ एक्शन ज़बरदस्ती ठूंसे नहीं गए हैं. बल्कि वो पत्रों के मनोभाव और सिचुएशन के मुताबिक कहानी की डिमांड के रूप में मौजूद हैं. हालांकि फिल्म के हीरो मनोज पाण्डेय हैं लेकिन सुप्रेरणा की परफोर्मेंस उनके मुकाबले कहीं भी कमतर नहीं है. बहरहाल, इस फिल्म का बेसब्री से इंतज़ार किया जा रहा है.


(स्रोत – स्पेस क्रिएटिव मीडिया)

साउथ के बाद भोजपुरी में सनसनी फैलाने को तैयार सुप्रेरणा सिंह

‘हाय राम……. गजब सीटी मारे सैयां पिछवाड़े’ यह शिकायत भरे अल्फाज हैं दक्षिण भाषी फिल्मों की मशहूर अभिनेत्री सुप्रेरणा सिंह के.
नहीं-नहीं ऐसी वैसी कोई बात नहीं है, ना ही किसी ने उनके साथ कोई बदतमीजी कि है और ना ही वे किसी पर आरोप लगा रही हैं. दरअसल यहाँ बात हो रही है सुप्रेरणा की आनेवाली भोजपुरी फिल्म ‘गजब सीटी मारे सैयां पिछवाड़े’ की.
यू.पी., इलाहबाद की सुप्रेरणा ने अपने कैरियर का आगाज किया ऐड फिल्मों से. उन्होंने पहला ऐड किया रानी मुखर्जी के साथ डाबर हेयर ऑएल का. उसके बाद कई प्रिंट ऐड किये. ज्वेलरी से लेकर सलवार सूट के भी कई होर्डिंग ऐड किये. ऐड फिल्मों के बदौलत उन्हें साउथ की फिल्मों के ऑफर आने लगें. और आज से करीब 4 साल पहले सुप्रेरणा ने तेलगु फिल्म ‘काशी पतनम’ से साउथ की फिल्म इंडस्ट्री में धमाकेदार इंट्री मारी और फिर साउथ की कई फिल्मे करके एक सनसनी सी मचा दी. यही नहीं सुप्रेरणा ने उड़िया, मराठी और राजस्थानी फिल्मों में भी अपना जौहर दिखाया.
हिंदी की बात करें तो उन्होंने डायरेक्टर चम्पक बनर्जी की ग्लोबल वार्मिंग पर बनी नॉन कामर्सियल फिल्म ‘सृष्टि चक्र’ में अच्छा परफोर्मेंस किया. इस फिल्म को दादा फाल्के अवार्ड से भी सम्मानित किया गया. एक टेलीफिल्म ‘आतंक’ में भी उनके अभिनय को खूब सराहा गया.
यू . पी. की होकर सुप्रेरणा भला भोजपुरी फिल्मों से दूर रह जाती ये कैसे हो सकता था…..! भोजपुरी में उन्होंने आगाज किया अभिनेता दिनेश लाल निरहुआ की सुपरहिट फिल्म ‘सात सहेलियां’ से. सात सहेलियां कामयाब रही..इसके बाद आयी राज कुमार पाण्डेय की ‘लहरिया लुटा ऐ राजा जी’ ने भी बॉक्स ऑफिस पर अच्छा कारोबार किया. इन दोनों फिल्मों की कामयाबी ने उन्हें भोजपुरी फिल्मों में स्थापित कर दिया. इस वक़्त सुप्रेरणा अपनी आनेवाली भोजपुरी फिल्मों की शूटिंग में व्यस्त हैं जिनमे से मुख्य हैं, ‘राजा जी’, ‘कलुआ भईल सयान’, और ‘गजब सीटी मारे सैयां पिछवाड़े’.
तो थोड़ा दिल थाम के बैठिये ये देखने के लिए कि साउथ की फिल्मों के बाद सुप्रेरणा अब भोजपुरी फिल्मों में किस कदर सनसनी फैलाती हैं !


(स्रोत – स्पेस क्रिएटिव मीडिया)