खुश बाड़ी स्मृति सिन्हा

भोजपुरी के चमकत अदाकारा स्मृति सिन्हा आजुकाल्हु बहुते खुश बाड़ी आ होखसु काहे ना ? पिछला दिने रिलीज उनुकर तीनो फिलिम ‘‘साजन चले ससुराल’’, ‘‘देवरा पे मनवा डोले’’ आ ‘‘सौंगन्ध गंगा मईया के’’ बॉक्स ऑफिस पर हिट साबित भइली सँ. स्मृति अबही भोजपुरी के सगरी बड़का निर्माता-निर्देशक आ अभिनेतन संगे काम करत बाड़ी.

स्मृति बतावत बाड़ी कि उनुका खुशी के सबले बड़का कारण बा सबले सफल भोजपुरी फिल्म निर्माता आलोक कुमार संगे लगातार तीसरका फिलिम कइल. कहली कि आलोक जी उनुका के ‘‘साजन चले ससुराल’’ आ ‘‘देवरा पे मनवा डोले’’ जइसन बेहतरीन फिलिम दिहलें आ अब ऊ आलोक जी के ‘‘दूध का कर्ज’’ के शूटिंग करत बाड़ी.

स्मृति सिन्हा के खेसारी लाल संगे ‘‘लाल दुपट्टा मलमल का’’ आ विराज भट्ट संगे ‘‘अंतिम तांडव’’ प्रदर्शन खातिर तइयार बा.


(प्रशांत निशांत के रपट)

Advertisements

छा गइली स्मृति सिन्हा

सिनेमा भोजपुरी में छाए वाली नयकी अभिनेत्री हई स्मृति सिन्हा. पर साल के सबले बड़का हिट ‘साजन चले ससुराल’ से भोजपुरी परदा छाप लेब वाली स्मृति क नयकी फिल्म ‘देवरा पे मनवा डोले’ एह घरी पूरा बिहार में धमाल मचवले बा. एह में स्मृति एक बेर फेर खेसारीलाल क नायिका बनल बाड़ी. स्मृति के जल्दिए रिलीज होखे वाली फिलिम होखी निर्देशक राजकुमार आर. पाण्डेय क फिल्म ‘सौगंध गंगा मईया के’ जवना में ऊ मनोज पाण्डेय संगे नजर अइहें. स्मृति एकरा अलावे अशोक कुमार दीप के फिल्म में खेसारीलाल संगे आ एक्शन स्टार विराज भट्ट संगे ‘अंतिम तांडव’ में नजर अइहें.

अपना सफलता से खुश स्मृति एकर श्रेय अपना दर्शकन के देत बाड़ी.


(प्रशान्त निशान्त के रपट)

स्मृति सिन्हा के मिलल ‘‘पदमा खन्ना’’ पुरस्कार

फिल्म ‘‘साजन चले ससुराल’’ से चर्चा में आइल सिनेमा भोजपुरी के नयकी सनसनी स्मृति सिन्हा के पिछला दिने दिल्ली में भइल विश्व भोजपुरी सम्मेलन में “पदमा खन्ना पुरस्कार” से सम्मानित कइल गइल. स्मृति के ई पुरस्कार भोजपुरी सिनेमा में उल्लेखनीय योगदान खातिर दिहल गइल. रंगीला बाबू से भोजपुरी परदा पर आइल बिहारी बाला स्मृति सिन्हा एह साल दर्जनो फिलिमन में नजर अइहें.


(प्रशांत निशांत के रपट से)

स्मृति सिन्हा के धमाल

भोजपुरिया सिनेमा का परदा पर आजुकाल अभिनेत्री स्मृति सिन्हा के धमाल चलत बा. ‘‘रंगीला बाबू’’ से भोजपुरी फिल्मन में अभिनय के शुरूआत करे वाली स्मृति सिन्हा अपना हालिया रिलीज फिल्म ‘‘साजन चले ससुराल’’ के लेके खासा चरचा में बाड़ी. मशहूर निर्माता आलोक कुमार के एह फिल्म में स्मृति सिन्हा के काम के खूबे तारीफ हो रहल बा. फिल्म में स्मृति के किरदार रानी नाम के एगो लड़िकी के बा आ उनुकर नायक बाड़े फिल्म के नायक आ नयका स्टार खेसारीलाल यादव.

साजन चले ससुराल के सफलता देखला का बाद स्मृति का लगे कई नया फिल्मन के ऑफर आवल शुरु हो गइल बा. आ स्मृति बहुते सोच विचार का बाद फिल्म सकारत बाड़ी. स्मृति के अबले रंगीला बाबू, प्यार बिना चैन कहां रे, शादी विवाह आ साजन चले ससुराल फिल्म प्रदर्शित हो चुकल बा. स्मृति कईगो धारावाहिको में काम कर चुकल बाड़ी.


(स्रोत – प्रशान्त निशान्त)

३० अप्रैल के रिलीज हो रहल बा प्यार बिना चैन कहाँ रे

एस आर इन्टरनेशनल आ सेवेन स्टार क्रिएशन्स का बैनर में बनल सामाजिक सरोकार वाली पारिवारिक फिल्म प्यार बिना चैन कहाँ रे ३० अप्रैल के रिलीज होखे जा रहल बा. एह फिल्म में एक्शन आ मनोरंजन का तड़का का बीचे भोजपुरी के सुपर स्टार पवन सिंह आ हसीन अदाकारा स्मृति सिन्हा के शानदार रोमांसो देखे के मिली.

अनंजय रघुराज के बनावल आ मनोज श्रीपति का निर्देशन में पवन सिंह, स्मृति सिन्हा, ललितेश झा, पंकज त्रिपाठी, आनन्द मोहन, संजीव झा, महक शुक्ला, नीलिमा सिंह, हरिशरण, सुनील बिहारी, अमरेन्द्र शर्मा, आ प्रवीण सिंह मुख्य कलाकारन में शामिल बाड़े. फिल्म के कर्णप्रिय गाना विनय बिहारी आ फणीन्द्र राव के लिखल बा जवना के संगीत से सजवले बाड़ै धनंजय मिश्रा. सह निर्माता छलिया श्रीवास्तव, कथा राकेश त्रिपाठी, आ कार्यकारी निर्माता जीतेन्द्र सुमन हउवें.


(स्रोत : उदय भगत, प्रशान्त निशान्त)

पवन सिंह अपना खून से स्मृति के माँग भरलन

Pawan Singh with Smriti Sinha

पिछला दिने मोतिहारी जिला के एगो गाँव में करीब पाँच सौ लोग का सोझा भोजपुरी सिनेमा के सुपर स्टार पवन सिहं अपना खून से अदाकारा स्मृति सिन्हा के माँग भर दिहलन आ अपना प्यार के एगो सम्मानित नाम देत उनका के आपन जीवन संगिनी बना लिहलन. माँग भरला का बाद दुनु जने एक दोसरा के गले लिपट गइलन.

भइल कुछ एह तरह से कि सेवन स्टार क्रिएशन्स के भोजपुरी फिल्म प्यार बिना चैन कहाँ रे के चरम दृश्य के शूटिंग चलत रहुवे जवना में दुनु जने, पवन आ स्मृति, नायक नायिका के किरदार में बा लोग. कहानी का हिसाब से पवन के अपना प्यार के रिश्ता के वैवाहिक रुप देबे के रहे. एकर तइयारी चलत रहे तबहिये पवन सिंह आपन अंगुरी काट लिहलें आ अपना खून से विधवा बनल स्मृति के माँग भर दिहलन.

निर्माता अनंजय रघुराज के एह फिल्म के निर्देशन मनोज श्रीपति करत बाड़े. फिल्म के कहानी बा कि पवन स्मृति लड़िकाई के दोस्त ह लोग. ईहे दोस्ती आगा चल के चाहत के रूप धर लेत बा आ जबले एह चाहत के इजहार हो पाइत तबले बहुत लेट हो चुकल रहे. रोमांटिक इमोशनल लव स्टोरी वाली एह फिल्म में देखावल गइल बा कि सच्चा प्यार कबो ना मरे आ विधवो औरत के समाज में जिये के हक बा.

फिल्म के बाकी कलाकारन में ललितेश झा, पंकज त्रिपाठी, आनंद मोहन, संजीव झा, महक शुक्ला, नीलिमा सिहं, हरिशरण, सुनील बिहारी, अमरेन्द्र शर्मा, आ प्रवीण सिंह सिसोदिया के खास भूमिका बा. सह निर्माता छलिया श्रीवास्तव, कहानीकार राकेश त्रिपाठी, गीतकार विनय बिहारी, फणीन्द्र राव आ राजेश मिश्रा, संगीतकार धनंजय मिश्रा बाड़े.

फिल्म जल्दिये रिलीज होखे जा रहल बिया.


स्रोत : प्रशान्त निशान्त